सूचना का अधिकार

Kindly click here to download and install requisite Hindi fonts

in your system for cleaner display of Devnagiri Text on your monitor.

 

लोक सूचना के अधिकार के अंतर्गत -

  1.  श्रीमती सुमन सिन्हा (अवर सचिव)
  लोक सूचना पदाधिकारी
   
2.  सूचना कोषांग दूरभाष - (0612)-2215264
   
Sec-4(1)(ख)
1,2. पिछड़ा वर्ग एवं अति पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग को विशिष्टियों, कृत्य और कर्तव्य मुख्य रूप से पिछड़ा वर्ग एवं अति पिछड़ा वर्ग के लिए राज्य सरकार द्वारा लागू विभाग के कल्याणकारी योजनाओं को कार्यान्वित करना है. इसके अतिरिक्त संबंधित वर्ग के सभी छात्र एवं छात्राओं को नियमानुसार छात्रवृति उपलब्ध कराना एवं विभाग द्वारा संचालित आवासीय विद्यालयों का संचालन कार्य/विभाग द्वारा समय-समय पर निर्गत नियमों/विनियमों एवं परिपत्रों के आलोक में दायित्वों का निर्वहन होता है.
3. विभाग का क्षेत्रीय स्थापना नहीं है अतएव तत्काल अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति कल्याण विभाग के नियंत्रणाधीन क्षेत्रीय कार्यालयों द्वारा उत्तरदायित्व एवं निर्वहन का पर्यवेक्षण जिला एवं प्रमंडल स्तर के उच्च अधिकारियों द्वारा अपने क्षेत्रान्तर्गत किया जाता है। शीर्ष पर पर्यवेक्षण विभाग द्वारा किया जाता है.
4. कृत्यों के निर्वहन का मापमान विभागीय नियम एवं परिपत्र हैं.
5. वित्तीय वर्ष 2012-13 में अन्य पिछड़ा वर्ग प्रवेशिकोत्तर छात्रवृत्ति योजना, राज्य के अंदर एवं बाहर विभिन्न संस्थानों में अध्ययनरत पिछड़ा वर्ग एवं अति पिछड़ा वर्ग के छात्र/छात्राओं को राशि की उपलब्धता के आधार पर निम्नलिखित अवरोही क्रम में प्राथमिकता देते हुए प्रवेशिकोत्तर छात्रवृत्ति स्वीकृत करने का निर्णय लिया गया है -
  1. सर्व प्रथम अति पिछड़े वर्गों के छात्राओं के नवीनीकरण आवेदन पत्रों पर विचार किया जायेगा.
  2. तत् पश्चात् अति पिछड़े वर्ग के छात्रों की नवीनीकरण आवेदन पत्रों पर विचार किया जायेगा.
  3. तदोपरांत अति पिछड़े वर्ग की छात्राओं की नवीन छात्रवृत्ति पर विचार किया जायेगा.
  4. इसके पश्चात् अति पिछड़े वर्गों के छात्रों की नवीन छात्रवृत्ति पर विचार किया जायेगा.
  5. अति पिछड़े वर्गों की छात्राओं एवं छात्रों के नवीनीकरण एवं नवीन छात्रवृत्ति की स्वीकृति के उपरांत राशि उपलब्ध रहने पर क्रमशः पिछड़े वर्ग की छात्राओं के नवीनीकरण एवं पिछड़े वर्गों के छात्रों के नवीनीकरण को छात्रवृत्ति सवीकृत किया जायेगा.
  6. अन्त में राशि की उपलब्धता के आलोक में क्रमशः पिछड़े वर्ग की छात्रा एवं पिछड़े वर्ग के छात्रों की नवीन छात्रवृत्ति स्वीकृत किया जायेगा.
6.
  1. प्री-मैट्रिक छात्रवृत्ति - इस योजनान्तर्गत वर्ग-1 से 10वीं तक अध्ययनरत पिछड़ा वर्ग एवं अति पिछड़ा वर्ग के छात्र/छात्राओं को छात्रवृत्ति प्रदान की जाती है.
  2. प्रवेशिकोत्तर छात्रवृत्ति - महाविद्यालयों में पढ़ने वाले पिछड़ा वर्ग एवं अति पिछड़ा वर्ग के छात्र-छात्राओं को छात्रवृत्ति प्रदान की जाती है.
  3. मुख्यमंत्री अत्यंत पिछड़ा वर्ग मेधावृत्ति योजना - इस योजना के अंतर्गत बिहार राज्य के स्थायी निवासी विद्यार्थियों को, जिन्होंने बिहार विद्यालय परीक्षा समिति से 10वीं. की परीक्षा प्रथम श्रेणी से उत्तीर्ण किया है, को प्रति छात्र/छात्रा 10,000.00 (दस हजार) रूपये एकमुश्त वृत्तिका दिया जाता है.

योजनाओं की विस्तृत सूचना विभागीय वेबसाईट पर उपलब्ध है।

7,8. शून्य.
9,10. विभाग में पदस्थापित पदाधिकारियों एवं कर्मचारियों का नाम, पदनाम एवं वेतनमान निम्नवत् है -
 
 नाम पदनाम
 श्री प्रेम सिंह मीणा सचिव
 डॉ. वीरेन्द्र प्रसाद यादव विशेष सचिव
 श्री निरोज कुमार भगत संयुक्त सचिव
 श्री अखिलेश कुमार सिंह उप-सचिव
 श्रीमती सुमन सिन्हा  अवर सचिव सह लोक सूचना पदाधिकारी 
 श्रीमती सुमन कुमारी प्रशाखा पदाधिकारी
 श्रीमती इंदु कुमारी प्रशाखा पदाधिकारी
 श्री अखिल प्रलयंकर सहायक
 श्री राजेश कुमार सिन्हा सहायक
 श्री शिवशंकर रजनीश सहायक
 श्रीमती सुरभी मलिका निम्न वर्गीय लिपिक
 श्री वीरेन्द्र कुमार निम्न वर्गीय लिपिक
 श्री दीनानाथ ठाकुर अनुसेवक
 श्रीमती सुनीता देवी अनुसेवक
11. कोई अभिकरण नहीं है.
12.
 योजना का नाम वित्तीय वर्ष 2018-19 में

आवंटित राशि

लाभान्वित छात्र/ छात्राओं की संख्या
 प्री मैट्रिक छात्रवृत्ति 32,347.394 लाख 32,347 (लक्ष्य)
 प्रवेशिकोत्तर छात्रवृत्ति 25,000.00 लाख --
 मुख्यमंत्री अत्यंत पिछड़ा वर्ग मेधावृत्ति योजना 95,000.00 लाख 95,000 (लक्ष्य)
13. शून्य.
14. विभागीय वेबसाईट पर अद्यतन अपलोड करने का कार्य समय-समय पर किया जायेगा।
15. सूचना अभिप्राप्ति करने के लिए सामान्य नागरिकों को निबंधित डाक एवं दूरभाष द्वारा सूचना देने का प्रावधान किया गया है। लोक सूचना पदाधिकारी एवं सहायक लोक सूचना पदाधिकारी द्वारा व्यक्तिगत तौर पर सूचना उपलब्ध कराने में तत्परतापूर्वक कार्रवाई की जाती है।
16. समय-समय पर आवश्यकतानुसार सूचनाएँ अद्यतन की जाती हैं.
 

Click to visit website on RTI Query & Information ...